विरोधियों को लगा सदमा! GST और भारत को लेकर वर्ल्ड बैंक ने जो कहा उससे खुद मोदी जी भी चौंके!

world bank gst report main

वर्ल्ड बैंक ने हाल ही में भारत में लागू हुए GST से भारत पर होने वाले प्रभाव पर अपनी प्रतिक्रिया दी है l इस प्रतिक्रिया से मोदी विरोधियों में बहुत रोष व्याप्त है और वो इस बात को पचा नहीं पा रहे हैं कि खुद वर्ल्ड बैंक GST के बारे में ये राय दी है l

सबसे पहले आप insistpost.com पर छपी इस ख़बर को पढ़िए…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक GST के लिए अब वर्ल्ड बैंक से अच्छी खबर मिल रही है l मोदी जी की इस योजना के लिए वर्ल्ड बैंक ने देश की कराधान नीति में संरचनात्मक बदलाव करार दिया है l GST लागू होने के बाद यह भारत में आजादी के बाद से कराधान नीति में अब तक का सबसे बड़ा परिवर्तन है l

वर्ल्ड बैंक के भारत प्रमुख जुनैद अहमद ने मोदी सरकार की GST के लिए सराहा है l जुनैद अहमद ने कहा है कि GST से भारत में 8 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि की संभावना मजबूत हुई है l वर्ल्ड बैंक की तरफ से आये इस तरह के बयान से विरोधियों की नींद ही उड़ गई होगी l जब मोदी सरकार ने इस नीति के लिए पहल की थी तो बहुत से विपक्षियों ने इसको लेकर विरोध भी किया था l

मोदी सरकार ने जब नोटबंदी की और उसके बाद जीएसटी लागू किया तब से विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार की आलोचना करने में लगी हुई हैं l अब ऐसे समय में वर्ल्ड बैंक की तरफ से इस तरह के बयान को सुनने की बाद उन सबके भी होश उड़ जाएंगे l वर्ल्ड बैंक का यह बयान मोदी सरकार को भी राहत देने वाला है l

वर्ल्ड बैंक के भारत के प्रमुख जुनैद अहमद ने उद्योग मंडल के एक कार्यक्रम में कहा कि ” भारत इस समय संभवतः 8 प्रतिशत से अधिक वृद्धि दर हासिल करने की कगार पर है l भारत ने देश को एक बाजार में बदलने का साहसिक कदम उठाया है l इसलिए GST का लागू होना एक संरचनात्मक बदलाव है l” इसी के साथ उन्होंने ने बताया कि अगर GST सही तरीके से क्रियान्वित होता है तो GDP वृद्धि दर को काफी गति मिलेगी l

अब news18.com पर छपी इस ख़बर को भी पढ़िए…

विश्व बैंक को भरोसा, GST बढ़ाएगा भारत की आर्थिक ताकत

नोटबंदी के बाद आर्थिक कमजोरी झेल रहे कई भारतीय क्षेत्रों के लिए वर्ल्ड बैंक खुशखबरी लाया हैl विश्व बैंक की एक रिपोर्ट में सामने आया है कि वित्त वर्ष 2017-18 में भारत की जीडीपी 7.2 प्रतिशत पर पहुंच जाएगीl साथ ही इस रिपोर्ट के हवाले से पता चला है कि वस्तु और सेवा कर यानि जीएसटी लागू होने से भारतीय अर्थव्यवस्था रफ्तार पकड़ेगी l

सोमवार को जारी हुई विश्व बैंक की दक्षिण एशियाई अर्थव्यवस्था की रिपोर्ट में ये अनुमान लगाए गए हैंl विश्व बैंक का कहना है कि 2018-19 में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर और बढ़कर 7.5 फीसदी पर पहुंच जाएगी l

रिपोर्ट में कहा गया है कि नोटबंदी से छोटी और अनौपचारिक अर्थव्यवस्था पर असर पड़ सकता है, वित्तीय क्षेत्र पर दबाव पड़ सकता है और साथ ही वैश्विक वातावरण में अनिश्चितता से आर्थिक वृद्धि को ‘उल्लेखनीय जोखिम’ का सामना करना पड़ सकता हैl इसमें कहा गया है कि कच्चे तेल और अन्य की कीमतों में तेज वृद्धि का भी अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा l

विश्व बैंक ने कहा कि निवेश कम रहने और नोटबंदी के प्रभाव की वजह से 2016-17 में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 6.8 प्रतिशत रहेगीl लेकिन 2017-18 में ये बढ़कर 7.2 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी l

इसमें कहा गया है कि समय पर और सही तरीके से जीएसटी के क्रियान्वयन से 2017-18 में आर्थिक गतिविधियों को उल्लेखनीय लाभ मिल सकता हैl रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि 2019-20 में आर्थिक वृद्धि दर मामूली और बढ़कर 7.7 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी l

SHARE